Tag Archives: anmol vachan in hindi

अनोखा वरदान

विजय सिंह मान का राजा था | वह अपनी प्रजा से बहुत प्यार करता था और उनका बहुत ध्यान रखता था | एक दिन की बात है वह तूफानी रात में अपने घोड़े पर स्वर होकर एक तंग से रास्ते से जा रहा था | वह भेस बदले हुए था | मामूली कपड़े पहन कर, […]
Posted in Hindi Stories | Also tagged , , | Leave a comment

राजकुमारों की शिक्षा और विश्वामित्र का आगमन

अब चारो राजकुमार बड़े हो गए थे और तभी राजा के आदेश से उन चारो राजकुमारों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए आश्रम भेज दिया गया | चारो ही भाई बहुत प्रतिभाशाली और बुदधिमान थे | थोड़े ही समय में उन चारो ने वेद, पुराण, शास्त्र, राजनीति व् शस्त्र संचालन आदि में निपुणता प्राप्त कर […]
Posted in Hindi Ramayan | Also tagged , , | Leave a comment

अपनी शक्ति को जानो

एक गीदड़ बहुत भूखा था कई दिन से ठीक भोजन न मिलने के कारण वह कमजोर हो गया था | इतनी ताकत भी न थी की स्वंय शिकार करके खा सके | थोड़ी देर में उसने एक शेर को आते देखा | शेर ने एक भेंसे का शिकार किया था | वह खा पीकर अपनी […]
Posted in Uncategorized | Also tagged , , , , | Comments closed

Poet – Poem Quotes

कवि जीवन का ऐसा साथी था, जो आत्मा – गाथा में ह्रदय-ह्रदय की गाथा कहता है | वह चलता स्वंय है, पर पग—पग पर सारे संसार का पथ प्रदशित करता है | शरण कवि यानि मन का मालिक | जिसने न नहीं जीता, वह ईश्वर की बनाई दुनिया का रहस्य नहीं समझ सकता | विनोबा […]
Posted in HindiQuotes | Also tagged , , , | Comments closed

ध्यान मग्न तोता

एक सुबह अकबर का एक सेवक बीरबल के घर पहुंचा | वह दुखी और प्रेशान था | “क्या बात है अली |” बीरबल ने पुछा | “श्रीमान मेरा जीवन खतरे में है | केवल आप ही मुझे खतरे से बाहर निकाल सकते है |” अली ने जवाब दिया | “में अपनी तरह से पूरा प्रयास […]
Posted in Motivational Stories | Also tagged , , , | Comments closed

बोल का मोल

एक आदमी बूढा हो चला था | उसके चार बेटे थे | बेटे यो तो सभी कम जानते थे | किन्तु बोलचाल और आचरण में चारो एक जैसे न थे | पिता ने कई बार उनसे कहा – “यदि तुमने अपनी बोलचाल और आचरण नहीं सुधारा तो जीवन में कभी सफल नहीं हो सकते |” […]
Posted in Hindi Stories | Also tagged , , , | Comments closed

मनुष्य की इच्छाएँ

मनुष्य की इच्छाएँ कभी खतम  नही होती | मानव की इछाये कुछ देर के लिये तो सुख देती पर मन की शांती नही दे सकती | मन एक प्रकार का रथ है जिसमे कामन, करोध, लोभ, मोह, अंहकर, ओर घृणा नाम के साथ अश्व जुटे है | कामना इन सब से प्रमुख है | मन के […]
Posted in Spiritual Stories | Also tagged , , , | 1 Comment

मुर्ख और ज्ञानी

एक दिन एक समस्या को सुलझाने के बाद बादशाह ने बीरबल से कहा, “बीरबल, क्या तुम जानते हो कि एक मुर्ख और ज्ञानी व्यक्ति में क्या अंतर है ?” “जी महाराज में जानता हु | “ बीरबल ने कहा “क्या तुम विस्तार से बता सकते हो ?” अकबर ने कहा | “महाराज, वह व्यक्ति जो […]
Posted in Hindi Stories | Also tagged , , , | 2 Comments

एकता और फुट

एक जंगल में बटेर पक्षियो का बहुत बड़ा झुंड था | वे निर्भय होकर जंगल में रहते थे | इसी करण उनकी संख्या भी बढती जा रही है | एक दिन एक शिकारी ने उन बटेरो को देख लिया | उसने सोचा की अगर थोड़े – थोड़े बटेर में रोज पकडकर ले जाऊ तो मुझे […]
Posted in Children Hindi Stories | Also tagged , , , | 1 Comment

ये बारिश की बुँदे कुछ कहती है

ये बारिश की बुँदे कुछ कहती है कहती है कुछ ये बारिश की बुँदे कभी ध्यान से सुनो, कुछ कहती है ये बारिश की बुँदे कभी ध्यान से सुनो, गुन गुन्नाती है ये बारिश की बुँदे   ये बारिश की बुँदे कुछ कहती है कहती है कुछ ये बारिश की बुँदे बेठ गई नन्हे पत्तो […]
Posted in Hindi Poems | Also tagged , , | Leave a comment
  • Facebook

  • Google +